इस्लाम का इतिहास
नारी जगत
मानव-अधिकार
जिहाद
क़ुरआन की शिक्षाएं
पैग़म्बर की शिक्षाएं
इशूज़ (मुद्दे)
जीवन-व्यवस्था
ग़लत फ़हमियों का निवारण
अंधेरे से उजाले की ओर
परिप्रश्न
ग़ैर-मुस्लिम विद्वानों के विचार
अन्य वेबसाइट
आपका नाम
मित्र का नाम
मित्र का ईमेल
संदेश
जीवन-व्यवस्था
   

इस्लामी जीवन-व्यवस्था

इस्लाम-परिचय के संबंध में यह बात स्पष्ट रूप से सामने आती है कि यह सिर्फ कुछ धारणाओं, मान्यताओं, परम्पराओं, पूजा-पाठ, और रीतियों का धर्म नहीं है बल्कि एक समग्र धर्म है जो पूरी जीवन-व्यवस्था को समाहित करता है। यह सिर्फ एक जीवन-पद्धति (Way of Life) नहीं, एक जीवन संहिता (Code of Life) है। इसीलिए इस्लाम के लिए ‘मज़हब’ (धर्म,Religion) के बजाए ‘दीन’ का पारिभाषिक शब्द प्रयुक्त होता है।
इस्लाम की अपनी सुनिश्चित आध्यात्मिक व नैतिक व्यवस्था भी है और सांसारिक-जीवन व्यवस्था भी। निम्न पंक्तियों में इसकी जीवन-व्यवस्था के कुछ पहलुओं पर संक्षेप में प्रकाश डाला जा रहा है।

 
उत्तम समाज का निर्माण

समाज-निर्माण के बहुत से क्षेत्र हैं। वे अलग-थलग नहीं बल्कि एक-दूसरे से संलग्न और संबंधित हैं। उनमें आध्यात्मिक क्षेत्र, नैतिक क्षेत्र, सामाजिक और आर्थिक क्षेत्र के महत्व के अनुकूल इस आलेख में उस रास्ते की तलाश की जा रही है जो इन्सानों को उत्तम समाज के निर्माण की मंज़िल पर ले जाता है।

 

दाम्पत्य व्यवस्था

इस्लामी दाम्पत्य व्यवस्था के मूल में यह विचारधारा काम करती है कि यह परिवार और समाज के सृजन की आधारशिला है।

शैक्षणिक व्यवस्था

शिक्षा का उद्देश्य ज्ञानोपार्जन है। शैक्षणिक व्यवस्था की रूपरेखा इस बात पर निर्भर है कि ‘ज्ञान’ की अवधारणा क्या है, उसके अन्तर्गत शिक्षा के संबंध में दृष्टिकोण क्या बनता है।

आर्थिक व्यवस्था

इस्लाम पूर्ण जीवन-व्यवस्था है। इस ने मानव जीन के प्रत्येक पक्ष को उत्तम से अतिउत्तम बनाने एवं परेशानियों और मुसीबतों से छुटकारा दिलाने के लिए ऐसे नियम और सिद्धांत प्रदान किए हैं कि लोक और परलोक के जीवन में अमन व शान्ति प्राप्त हो।

नैतिक व्यवस्था

मानव के अन्दर नैतिकता की भावना एक स्वाभाविक भावना है जो कुछ गुणों को पसन्द और कुछ दूसरे गुणों को नापसन्द करती है।

राजनीतिक व्यवस्था

इस्लामी राजनैतिक व्यवस्था की बुनियाद तीन सिद्धांतों पर रखी गई है—तौहीद, रिसालत और ख़िलाफ़त।




मुख पृष्ठ   |   किताबें   |   सीडी   |   वीडियो   |   हमसे संपर्क करें
Copyright © 2017 www.islamdharma.org